safe_image-37

करवा चौथ पर बनाएं ये खास रेसिपी, जानें विधि

भारतीय त्योहारों में नारियों का प्रमुख त्योहार करवा चौथ का व्रत माना जाता है। यह त्योहार कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को मनाया जाता है जो इस साल 8 अक्टूबर को रविवार के दिन पड़ रही है। करवा चौथ मुख्य रूप से सभी महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र के लिए, अपने पुत्र की खुशहाली एवं दीर्घायु और सुखद गृहस्थ जीवन के लिए रखती हैं। भारत में हिंदू धर्म में आस्था रखने वाले लोग बड़ी धूम-धाम से इस त्योहार को मनाते हैं लेकिन उत्तर भारत खासकर पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश आदि में तो इस दिन अलग ही नजारा देखने को मिलता है। सभी महिलाएं पूरे दिन का उपवास रखतीं हैं, दोपहर से लेकर सांयंकाल तक के समय में कभी भी पूजन करतीं हैं और चौथमाता की कथा सुनतीं हैं। वहीं, दिन ढलते ही विवाहिताएं रात को चांद के दर्शन के बाद ही अपना व्रत खोलती हैं।

इस साल करवा चौथ की पूजा का मुहूर्त शाम 5:55 बजे से 7:09 बजे तक होगा और चंद्रोदय का समय 8:14 बजे होगा।

इस दिन कई महिलाएं सरगी के रूप में एक महत्वपूर्ण रस्म अदा कर रही होती हैं। इसमें व्रत शुरू होने से पहले सास अपनी बहु को कुछ मिठाइयां, कपड़े और शृंगार का सामान देती है। महिलाएं इस सरगी में आई मिटहि को खाकर ही व्रत की शुरुआत करती हैं। सभी महिलाएं दिनभर उपवास कर शाम को चांद दिखाई देने पर ही अपना व्रत खोलती हैं।  

हम आपको अब बताएंगे इस करवा चौथ अपने मुंह का स्वाद सेहतमंद तरीके से बदलने के लिए आप घर पर कौन-कौनसी खास रेसिपी बना सकते हैं

1. मूंग दाल की कचोरी

सामग्री 2 कप मैदा, तेल, नमक,आधा कप मूंग दाल, हरा धनियां, 2 बारीक कटी हुई हरी मिर्च, 1 चम्मच धनियां पाउडर, 1 चम्मच सोंफ पाउडर, लालमिर्च, हींग, अदरक पाउडर, गरम मसाला, जीरा

विधि नमक और तेल मैदा में डालकर अच्छी तरह मिला लीजिए और थोड़ा-थोड़ा पानी डालकर नरम चपाती के आटे जैसा आटा गूंथ कर तैयार कर लीजिए आटे को ढककर 15-20 मिनिट के लिए रख दीजिए, आटा फूल कर सैट हो जायेगा जब तक आटा सैट होता है तब तक पिठ्ठी बनाकर तैयार कर लीजिए

मूंग की भीगी हुई दाल को दरदरा पीस लीजिये, पैन गरम कीजिये, पैन में 3- 4 टेबल स्पून तेल डाल दीजिये तेल गरम होने पर, जीरा डाल दीजिये, जीरा भुनने पर हींग डालिये, हरी मिर्च, धनियां पाउडर, सोंफ पाउडर और मसाले को हल्का सा भून लीजिये, पिसी हुई दाल डाल दीजिये नमक, गरम मसाला, अदरक पाउडर और लाल मिर्च पाउडर भी डालकर मिला दीजिये और दाल को भून लीजिये भुनी दाल को प्याले में निकाल लीजिये ताकि वह जल्दी से ठंडी हो जाए

अब आटे से छोटे नीबू के आकार की लोई तोड़कर, गोल कर लीजिये एक लोइ उठाइये और हाथ पर रखकर उसे उंगलियों की सहायता से बड़ा कर, टोकरी जैसा बना लीजिये आटे की इस टोकरी में 1 चम्मच दाल की पिठ्ठी डाल दीजिये और आटे को चारों ओर से उठाकर पिठ्ठी को अच्छी तरह बन्द कर दीजिये सारी कचौरियां इसी तरह भरकर तैयार कर लीजिये

कचौरियां तलने के लिये तेल को थोड़ा गर्म कीजिये और भरी हुई कचौरी को हाथ से या बेलन से हल्का दबाव देते हुये मोटी कचौरी बेल कर तैयार कर लीजियेअब इस कचौरी को बेल कर गरम तेल में डाल दीजिये कचौरियां जब फूल कर तैरने लगे और नीचे की ओर से थोड़ी सिक जाय तब उन्हैं पलट दीजिये, कचौरियों को पलट पलट कर गोल्डन ब्राउन होने तक तल लीजिये तब ही कचौरियां खस्ता बनेंगीsafe_image-36

2. बंगाली मिठाई संदेश

सामग्री1 लीटर फूल क्रीम दूध, 2 नींबू, आधा कप चीनी, 4-5 इलायची, 20-25 धागे केसर, 10-12 पिस्ता

विधि सबसे पहले दूध को किसी बर्तन में डालकर गर्म करें। अच्छी तरह गर्म होने पर दूध को आंच से नीचे उतार लें और थोड़ा ठंडा होने पर उसमें टाटरी या एक गिलास में नींबू का रस लेकर उसमें डालें और दूध को हिलाते रहें। दूध फट जाएगा अब दूध और पानी अलग-अलग दिखाई देने लगेंगे। अब पतला मलमल का कपड़ा गीला कर लीजिए और उसमें वह दूध डालेंगे। ऐसा करने पर पानी निकल जाएगा और छीना कपड़े में रह जाएगा। इसके बाद थोड़ा सा साफ पानी और डालेंगे जिससे नीबू का खटास पन निकल जाएगा। इस तरह से तैयार होता है संदेश बनाने का छीना। पानी अच्छी तरह सूख जाने पर इसे ठंडा करेंगे और हाथ से मसलेंगे। इसके बाद पिसी हुई चीनी डालकर अच्छी तरह मसलकर तैयार करेंगे। इसमें पिसी हुई इलायची के दाने, केसर मिलाकर छोटे-छोटे गोले बनाकर ऊँगली की सहायता से दबाकर बीच में पिस्ता के टुकड़ों से सजा देंगे।safe_image-34

3. बेसन मेथी की मठरी

सामग्री- 1 कप बेसन, 1 कप मेथी, 1 कप मैदा, 1 चुटकी खाने वाला सोडा, आधी चम्मच अजवाइन, नमक स्वादानुसार, 4 बड़े चम्मच घी और तेल

विधि- बेसन में नमक, लालमिर्च, थोड़ी हल्दी, अजवाइन, कालीमिर्च, सूखी या गीली मेथी के पत्तों के छोटे छोटे टुकड़े कर सभी को मिलाते हैं इसके बाद थोड़ा सा तेल और चुटकी भर खाने का सोड़ा डालकर कम मात्रा में पानी डालकर गूंदते हैं छोटे-छोटे गोले बनाकर और उनकी मठरी बेलकर तलते हैं बादामी कलर होने तक धीमी आंच पर तलो स्वादिष्ट मठरी बनकर तैयार हैंsafe_image-35

4. मालपूआ

सामग्री 1 कप मैदा, आधा कप मावा या खोया, बेकिंग सोडा, आधा कप चीनी, सोंफ पाउडर, इलायची पाउडर, दही और तेल

विधि एक बाउल में मैदा, इलायची पाउडर, सोंफ का पाउडर डालकर मिला दीजिए फिर इसमें खोया और दही डालकर मिला दीजिए अब इसमें थोड़ा-थोड़ा पानी डालकर गुढलियां खतम होने तक अच्छे से फैट लीजिए गाढ़ा, चिकना घोल तैयार कर लीजिए अब चाशनी बनाने के लिए कढ़ाई में चीनी और 1/4 कप पानी डालकर गैस पर उबलने के लिए रख दीजिए अब एक तार की चाशनी बनने के बाद 1/4 चम्मच डालकर मिला दीजिए और गैस बंद कर दीजिएअब तेल गरम करने के लिए रखिए और मैदे के मिश्रण में बेकिंग सोडा डालकर मिला दीजिए चम्मच में मैदे के घोल को भरकर कढ़ाई में गोल पूरी के आकार में फैलाएं और धीमी आंच पर दोनों तरफ से हल्का ब्राउन होने तक तलकर निकालकर चाशनी में डाल दीजिए और बाकि सारे घोल से भी इसी तरह से मालपुआ बनाकर चाशनी में डाल दीजिएsafe_image-33

अंग्रेजी में अधिक व्यंजनों जानने के लिए, यहां क्लिक करें।

Add comment