navratri-food_620x350_81490871498

इस नवरात्रि स्वस्थ रहने के लिए इन चीज़ों से करें परहेज़

नवरात्रि को शास्त्रों में आध्यात्मिक चेतना को जागृत करने का समय माना गया है, इसलिए इस दौरान भगवान में आस्था रखने वालों को और व्रत रखने वालों को नियमों का पालन करना चाहिए। उपवास के दौरान नियमों का पालन करने के साथ-साथ आपको स्वास्थ्य का भी विशेष ध्यान रखना चाहिए। शुद्धता और पवित्रता से जुड़े इस पर्व के समय व्रत रखने वालों के लिए सबसे महत्वपूर्ण बात होती है- ‘क्या खाएं और किस चीज़ से परहेज़ करें’। इन बातों को ध्यान में रखते हुए हमने आपके लिए इस ब्लॉग में उन सभी चीज़ों का वर्णन किया है जिनसे आपको दूरी बनाए रखनी चाहिए।  

1. सादा नमक, प्याज, लहसुन से करें परहेज़

रोज़ाना खाने में इस्तेमाल किए जाने वाले सादा नमक को उपवास के दौरान नहीं खाना चाहिए सादा नमक को खाने से उपवास नहीं माना जाता है क्योंकि यह अन्न की तरह समझा गया हैहिन्दू धर्म के अनुसार, नवरात्रि के उपवास में लहसुन और प्याज नहीं खाने चाहिए क्योंकि ये सात्विक भोजन में नहीं आते हैं और इन्हें अशुद्ध माना गया है विशेषकर नवरात्रि उपवास के दिनों में इनका सेवन उपवास में वर्जित माना गया है इनके सेवन से मुंह में दुर्गंध आने लगती है जिससे सामने वाले व्यक्ति से बात करने में भी लज्जा का अनुभव होता है उपवास के दौरान आप सादा नमक की जगह सेंधा नमक खा सकते हैं जिससे आपके शरीर में आयोडिन की मात्रा भी बनी रहती है। safe_image-1

2. तली हुई वस्तुओं का सेवन नहीं करें

उपवास के दौरान अधिक तली हुई चीज़ें नहीं खानी चाहिएं तेल अधिक खाने से या तली हुई चीज़ों के सेवन से  शरीर में कोलेस्ट्रोल की मात्रा बढ़ जाती है नमकीन, चिप्स आदि या अन्य तली हुई चीज़ें इसलिए नुकसान दायक होती हैं क्योंकि इनसे व्यक्ति को चक्कर आने लगते हैं, सिर घूमने लगता है और शरीर में स्फूर्ति भी कम हो जाती है लोग आजकल बाज़ार में बहुत सी चीज़ें तली हुई देखकर उपवास के लिए खरीद लाते हैं जो शुद्ध नहीं मानी गई हैं इनको खाने से मोटापा घटता नहीं बल्कि बढ़ जाता है। safe_image-2

3. उपवास के दौरान नहीं खाएं अधिक मीठा

नवरात्री के में बहुत से व्यक्ति उपवास के समय तरह-तरह की मिठाइयां खाना पसंद करते हैं जो खासकर भूखे शरीर में हानिकारक साबित हो सकती हैं बाज़ार में मिलने वाली मिठाइयों में मीठे की मात्रा बहुत अधिक पाई जाती है और उसमें सैकरीन का प्रयोग भी किया जाता है इसमें सोड़े का भी प्रयोग किया जाता है जिसके सेवन से हमारे शरीर को नुकसान हो सकता है क्योंकि इससे शरीर में शुगर की मात्रा तेज़ी से बढ़ जाती है, पेट दर्द की संभावना पैदा हो जाती है और कभी-कभी दस्त लगने का यह मुख्य कारण बन जाता है अगर उपवास के दौरान मीठा खाने की इच्छा हो तो शहद या कम मात्रा में गुड़ खाया जा सकता है जिससे शरीर को विटामिन मिलता है और मीठे की पूर्ति भी हो जाती है गौरतलब है कि शहद के ज़रिए आपके शरीर को ताकत भी मिलती हैsafe_image-3

4. फुलक्रीम दूध की टोन्ड दूध का करें सेवन

उपवास के समय अधिकतर लोग खाली पेट रहकर दूध पीना पसंद करते हैं हम याद दिलाना चाहेंगे कि फुलक्रीम दूध शरीर में फैट को जन्म देता है जिससे मोटापा बढ़ता है इस तरह मोटापे का बढ़ना नुकसान दायक सिद्ध होता है जिसके कारण शरीर में अनेक प्रकार की बीमारियां जन्म लेने लगती हैं इसलिए उपवास में क्रीम निकला हुआ दूध का सेवन करना चाहिए, जिसे पीने से शरीर को कोई नुकसान भी नहीं होता और तन भी स्वस्थ्य रहता हैsafe_image-4

5. सादा चावल और गेंहू के आटे से रहें दूर

धयान रहे कि नवरात्रि में उपवास के दौरान सादा चावल जोकि प्रतिदिन खाने में काम लिए जाते हैं, उनका प्रयोग   वर्जित है सादा चावलों में प्रोटीन की मात्रा अधिक होती है जो शरीर में मोटापा बढ़ने के कई कारणों में से एक बताई जाती है हम आपको यह हिदायत देना चाहेंगे कि व्रत के दौरान सादा चावल की जगह सांवक चावल का उपयोग करें उपवास में इनका इस्तेमाल सबसे साधारण तौर पर खीर बनाने में किया जाता सकता है ऐसा करने से मुंह का स्वाद भी बदल जाएगा और आप अंततः पौष्टिक खा रहे होंगे दरअसल, कच्चे और पक्के दोनों ही प्रकार के चांवलों का प्रयोग करने से प्रोटीन की मात्रा बढ़ जाती है जिससे व्रत के दौरान व्यक्ति का वजन घटने की जगह बढ़ जाता है। व्रत के दौरान अपना वजन घटाने की चाह रखने वाले लोगों को इस बात का खास ध्यान रखना चाहिए।safe_image-5

6. पैक्ड फूड से बचें

इन दिनों बाज़ार में तरह-तरह के पैक्ड फूड मिलते हैं और बहुत से लोग इनको उपवास में खाने और पीने के लिए काम में लेते हैं इन फूड्स को बनाते समय कई प्रकार के रासायनिकों व् दवाओं का प्रयोग किया जाता है, जिनका उपवास के दिनों में प्रयोग करना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है तरह-तरह के केमिकल मिले पेय पदार्थों के सेवन से भी रासायनिक हमारे खून में मिल जाते हैं दरअसल इन पदार्थों को बनाते समय रासायनिक पदार्थ मिलाए जाते हैं जिससे ये अधिक दिनों बाद भी इस्तेमाल किए जा सकें जैसे खाली पेट कोल्ड्रिंक पीने से शरीर की हड्डियां कमज़ोर होती हैं उपवास के दौरान इनका सेवन करना नियमों का उल्लंघन माना जाता है पीने में फलों के ताज़ा रस का सेवन किया जा सकता है जो स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होते हैं। safe_image-6

2 comments

    • Hi Nirdesh,

      Very happy to hear that our information could be of help to you. In fact once the Navratri are over, you can still get a diet plan suggested by us, just by logging to our website: http://www.98fit.com/#generate

      You’ll get a full 7 day diet plan which is completely vegetarian, as per you. If you have any queries, you can get in touch with us, we’d be happy to help!

      Thanks
      Team 98Fit